block

Wednesday, November 7, 2012

क्या आप समझते हैं की ट्राई के नये कानून से अनचाही कॉल्स या मैसेज की समस्या खत्म हो जायेगी?


क्या आप समझते हैं की ट्राई के नये कानून से अनचाही कॉल्स या मैसेज की समस्या खत्म हो जायेगी?
अभी हाल ही में टेलीकाम रेगुलेटरी अथॉरिटी ने अनचाही कॉल व मैसेज में रोक लगाने के लिए एकबार फिर से प्रयास किया है वा नये कानून बनाये हैं। कानून तो पहले भी बनाये गये थे पर नतीजाक्या था। फिर भी लोग इन मार्केटिंग कम्पनियों के मैसेज से दुखी रहते थे। इस बारे में मैने पहले भी 8 अगस्त 2012 को ट्राई का ध्यान आकर्षित किया था और उसमे मैने पहले कहा था कि इस समस्या की जड़ क्या हैउस पर तो ध्यान नही दिया और कोई नया कानून बना दिया।
क्या आप समझते हैं कि नये कानून से यह समस्या खत्म हो जायेगी। मेरे हिसाब से तो नही। जब तक कोई शिकायत करने का आसान प्रावधान नही होगा यह समस्या कंट्रोल होने की बजाये बढेगी। मेरे 8 अगस्त के लेख में भी यही लिखा था।
हाँ हमारी टेलिकॉम कंपनिया जरूर खुश है क्योंकि पहले टेली मार्केटिंग कंपनी एक या दो पैसे में मैसेज भेजते थे अब वही 100 मेसेजस भेजने के बाद प्रति मैसेज की दर 50 पैसे कर दी हैं। एक बात और इस कानून से विधार्थी वर्ग जरूर प्रभावित होगा क्योंकि वो अब एक मेसेज को एक घंटे में 200 से ज्यादा लोगो को नही भेज पायेंगे। विधार्थियो के पास तो एक या दो सिम ही होंगे पर व्यवसायी वर्ग के पास तो ना जाने कितने सिम होंगे। भेजे जाओ जितने मेसेज भेजने हैं चाहे जनता दुखी होती रहे।
फिर एक दिन दुबारा श्री कपिल सिब्बल जी कहेंगे ये क्या हुआ इस समस्या से तो कोई निजात नही मिली।

No comments:

Post a Comment